Uncategorized

 जींद – हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया भारतीय नववर्ष……                              

जींद- रणबीर सिंह विश्वविद्यालय में हर्षोउल्लास के साथ भारतीय नव- वर्ष गया !इस अवसर पर मुख्यवक्ता के रूप हरियाणा के मुख्यमंत्री के निजी सचिव श्री राजेश कुमार जी ने शिरकत की व सभी विद्यार्थियों व स्टाफ सदस्यों को भारतीय नव वर्ष के बारे में जानकारी दी उन्होंने कहा कि विक्रमी संवत को विश्व में वैज्ञानिक कलेंडर माना गया है. शैक्षिक संघ के अध्यक्ष व विश्वविद्यालय के डीन आॅफ काॅलेज प्रो. राजबीर सोलंकी ने सभी प्राध्यपकों और विद्यार्थियों को नव- वर्ष विक्रमी संवत 2074 पर शुभकामनाएं दी और बताया कि 1 जनवरी को मनाया जाने वाला नया साल भारतीय संस्कृति का परिचायक नहीं है अपितु चैत्र माह शुक्ल पक्ष एकम ही नए साल का परिचायक है. विश्वविद्यालय के कुलपति मेजर जनरल डाॅ रणजीत सिंह ने इस दौरान कहा कि विक्रमी सम्वत का संबंध किसी भी धर्म से न हो कर कर सारे विश्व की प्रकर्ति, खगोल सिद्धान्त व् ब्रमांड के सारे ग्रहों और नक्षत्रों से है. इसलिए भारतीय काल गणना पंथ निरपेक्ष होने के साथ सृष्टि की रचना व् राष्ट्र की गौरवशाली परम्पराओं को दर्शाती है. इस वैज्ञानिक आधार के कारण ही भारत में किसी कार्य की सफलता के लिए शुभ लगन व् मुहूर्त पूछा जाता हैं जो कि विशुद्ध रूप से विकर्मी सम्वत के पञ्चाङ्ग पर आधारित होता है.   

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.