Uncategorized

पांचवे नवरात्रे के अवसर पर स्कंदमाता का किया पूजन…..

कैथल : माँ भगवती के नवरात्रे मेले के दौरान नवरात्रे के पांचवें दिन सनातन धर्म मंदिर कैथल में माँ दुर्गा के स्कंदमाता रूप की पूजा अर्चना बड़ी धूम धाम और श्रधाभाव से की गई। इस कार्यक्रम में प्रमुख समाज सेवी रमेश खुरानिया ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की और अति वशिष्ठ अतिथि के रूप में भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राव सुरेन्द्र जी, वशिष्ठ अतिथि के रूप में सतपाल मित्तल एवं रवि मित्तल एसई कैथल मौजूद रहे। उन्होंने माई का गुणगान करते हुए फूलों की माला पहनाकर उनका आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर प्रमुख जागरण मंडल रेखा धीमान एंड पार्टी द्वारा माँ भगवती का गुणगान किया गया। मण्डल द्वारा गाई भेंटों पर भजन संध्या में आए सभी भक्त नाचने पर मजबूर हो गए। माँ के पवित्र नवरात्र पर भक्तों ने माँ के दर्शन कर मुरादें मांगी। आयोजित कार्यक्रम में बच्चों ने भी माता रानी के भजनों पर सुंदर नृत्य प्रुस्तुत किए। पंडित जनार्दन कुमार ने माँ भगवती के पांचवें नवरात्रे की महत्ता बताते हुए कहा कि मां दुर्गा के पांचवें स्वरूप को स्कंदमाता कहते हैं। नवरात्रों के पांचवें दिन इसी माता की पूजा होती है। ये स्कंद कुमार कार्तिकेय की माता के कारण इन्हें स्कंदमाता नाम से अभिहित किया गया है। इनके विग्रह में भगवान स्कंद बालरूप में इनकी गोद में विराजित है। ये कमल के आसन पर विराजमान रहती है। सिंह इनका वाहन है। इस देवी की चार भुजाएं है। दुर्गा पूजा के पांचवें दिन इनके स्वरूप की पूजा की जाती है और पूजा अर्चना करने से भक्त के भीतर अद्भुत शक्ति का संचार होता है और सभी संकटों का नाश होता है। इस अवसर पर माँ भगवती का प्रसाद बाल किशन सेतिया फ्रूट कैथल वाले के द्वारा बंटवाया गया।

About the author

Related Posts


Notice: Undefined offset: 0 in /home/worldeye/public_html/wp-content/themes/javo-directory/library/layout.php on line 197

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.