Uncategorized

बिना दबाव करें काम, कानून किसी को हाथ में नहीं लेने दूंगा- योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज बीजेपी के सभी नये विधायकों को संबोधित किया. सीएम योगी ने कुल 109 बीजेपी विधायकों को संबोधित किया. योगी बोले कि हम सभी को बिना हिचक और बिना किसी दबाव के कार्य करना चाहिए.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें राज्यपाल का पूरा सहयोग मिल रहा है, राज्यपाल हमारे लिए अभिभावक के जैसे हैं. हमें जनप्रतिनिधि के दायित्व को निभाना चाहिए. सीएम योगी बोले कि विधायकों और सांसदों पर उंगलियां उठाई जाती है, जहां पर भी संभावनाएं होती हैं वहां पर उंगलियां उठती हैं.

योगी ने पहली बार चुन कर आये 238 विधायकों का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि विधायकों की पहली क्लास सफल होने के लिए हृदय नारायण दीक्षित जी को बधाई. योगी ने कहा कि अक्सर कहा जाता है कि जनप्रतिनिधि एक जगह टिक नहीं सकते हैं, ये वैसा ही है जैसे मेंढ़क को तराजू पर तोलना लेकिन मुझे भरोसा है कि हम यूपी की जनता के भरोसे पर खरें उतरेंगे.
विधायकों को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि सभी नये विधायक नियमों का पालन करते हुए सदन में अपनी बात को रखें. योगी बोले कि अपने आप को निखारने के लिए सदन एक शानदार मंच है.
योगी बोले कि देश में हर कोई रिटायर होने के बाद सांसद या विधायक बनना चाहता है, सदन लोकतंत्र की आधारशीला है. सदन में सभी बातों को नियमों के अनुसार रखें, नियमों से ही बातों का समाधान निकलता है. योगी बोले कि उत्तर प्रदेश को प्रकृति का आशीर्वाद प्राप्त है.
सीएम योगी ने कहा कि मेरे कहने पर प्राकृतिक रामगढ़ ताल के मुद्दे पर सरकार ने आगे बढ़ाया. मैंने इस मुद्दे को सदन में उठाया था. मैंने कभी सदन में अमर्यादित बात नहीं की, विपक्ष में होने के नाते सड़कों पर आंदोलन किया लेकिन सदन में हमेशा सही बात उठाई.

योगी ने कहा कि आपका व्यवहार ही आपको अलग बनाता है. जब भी किसी को संकट में देखें तो उसकी मदद करें, उसके प्रति जवाबदेह होना सभी का दायित्व है. जवाबदेह होने के बाद भी हमें जवाबदेह माना जाता है.

योगी ने कहा कि एक व्यक्ति के गंदगी फैलाने से पूरी व्यवस्था बदनाम होती है. इसलिए भ्रष्टाचार से दूर रहें. सिर्फ नियमों की किताब पढ़ने से काम नहीं चलेगा, अगर उन्हें समझेंगे तो कोई परेशानी नहीं होगी.

योगी बोले कि जब मैं सदन में था तब अपने सवाल खुद तैयार करता था, 4-5 घंटे में 100-150 सवाल तैयार कर टाइपराइटर को देता था. हमें उत्तर प्रदेश विधानसभा को देश के लिए उदाहरण बनाना है. यहां पर बहुत समय से कार्य ठप-सा है. योगी ने कहा कि विधानसभा को 90 दिन चलना चाहिए था, लेकिन 25 दिन ही चल सकी. हमें कोशिश करनी होगी कि विधानसभा 90 दिन चले. अगर ऐसा होगा तो कोई किसी भी थान में गड़बड़ी नहीं कर पाएगा.

योगी ने कहा कि किसी को कानून को अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है, हम बिना किसी पूर्वाग्रह के अपनवी बात रखें. उत्तर प्रदेश में कानून का राज होगा. उन्होंने कहा कि विकास के मुद्दे पर किसी के साथ भेदभाव नहीं होगा.

लोग पहले सवाल उठाते थे कि क्या महिला लोकसभा को चला सकती है, लेकिन सुमित्रा महाजन ने लोकसभा को काफी अच्छे तरीके से चलाया है.

About the author

Related Posts


Notice: Undefined offset: 0 in /home/worldeye/public_html/wp-content/themes/javo-directory/library/layout.php on line 197

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.