तंजौर मंदिर के रहस्य — टॉप पर कैप पत्थर है।

📌 क्या कोई इस गुत्थी को सुलझा सकता है …?

तंजोर मंदिर के शीर्ष पर टोपी के पत्थर का वजन वजन 80 टन है।
इस मंदिर की परछाईं ज़मीन पर नहीं पड़ती,,,

कैप स्टोन के बारे में मुख्य उद्गार यह है कि तंजौर मंदिर के निर्माणकर्ता कैसे आए और तंजौर मंदिर में गोपुरम के शीर्ष पर टोपी का पत्थर रखने में सक्षम कैसे हुए??

इन कार्यों को करने के लिए उन दिनों में कोई क्रैन या कोई चीज का उच्च उपयोग नहीं किया गया था। केवल एक चीज जो हाथियों की मदद ले सकते थे।

तंजौर बड़े मंदिर की विशाल टोपी इस तरहसे बनाई गई है कि तंजौर के मंदिर गोपुरम का मैदान जमीन पर नहीं गिरेगा। यह बस अपने जगह पर ही गिर सकती है।

इस विशेष योजना और निर्माण के प्रकार के बारे में ज्ञान होना एक आसान काम नहीं है …।

मैं इसी लिए कहता रहता हूं दुनिया जब नंगी पेड़ पत्ते लपेट कर रहती थी ओर जानवर मारकर खाती थी तब हमारे पास परमात्मा की वाणी वेद थे और आधुनिक इंजीनियर तो कल बने है पर सनातन के कला कौशल ने सदियो पहले भव्य भारत का निर्माण कर दिया था, गर्व करो कि हम सनातनी है और इस भारत भूमि पर जन्मे है ।।

जय श्री कृष्ण

Related Posts

NSQF NEW CONTENT CLASS-11TH-LEVEL-3 IT/ITES CLASS-11TH-LEVEL-3-Unit-1 CLASS-11TH-LEVEL-3-Unit-2 ...
World Eye
July 24, 2020
धर्मनगरी कुरुक्षेत्र में 27 सेकेंड के लिए 98.95 फीसद सूर्य को चंद्रमा ने ढकाकुरुक्षेत्र के गांव भौर ...
World Eye
June 21, 2020
12:00 बजने के स्थान पर #आदित्य लिखा हुआ है जिसका अर्थ यह है कि सूर्य 12 प्रकार के होते हैं*1:00 बजने ...
World Eye
June 13, 2020
Skip to toolbar