Uncategorized

गन्ना पेराई क्षमता बढ़ाने पर किसान शेयर देने को तैयार

बरोदा : भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के बैनर तले किसानों ने गांव आहुलाना स्थित चौ. देवीलाल सहकारी चीनी मिल में बैठक की। भाकियू नेताओं ने चीनी मिल की गन्ना पेराई क्षमता बढ़ाने के मामले में सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर से हुई बातचीत को किसानों को विस्तार से बताया। किसानों ने कहा कि अगर सरकार मिल की पेराई क्षमता बढ़ाती है तो वे शेयर देने के लिए तैयार हैं।
बैठक में जानकारी दी गई कि इनेलो सरकार के कार्यकाल में वर्ष 2001 में गांव आहुलाना में सहकारी चीनी मिल चालू हुआ था। जो किसान मिल में गन्ना डालते हैं वे प्रति ¨क्वटल 50 पैसे शेयर देते हैं। मिल की दैनिक गन्ना पेराई क्षमता शुरू से अब तक 25 हजार क्विंटल है। क्षेत्र में किसान गन्ने की फसल का उत्पादन अधिक करते हैं। यहां पूरे गन्ने की पेराई न होने से किसानों को लाखों क्विंटल गन्ना उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब की निजी चीनी मिलों में पहुंचाना पड़ता है। इससे किसानों को नुकसान उठाना पड़ता है। किसान आहुलाना मिल की पेराई क्षमता 35 हजार क्विंटल दैनिक चाहते हैं। प्रदेश सरकार ने मिल की पेराई क्षमता 27.5 हजार ¨क्वटल तक करने का भरोसा दिलाया हैं, जिससे किसानों में मायूसी है।
भाकियू का प्रतिनिधिमंडल पिछले दिनों प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर से मिला था। उन्होंने किसानों द्वारा शेयर दिए जाने पर पेराई क्षमता बढ़वाने का आश्वासन दिया था।

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.